पश्चिम रेलवे द्वारा देश के विभिन्न भागों के लिए 1 जून 2020 से 17 ट्रेन सेवाओं की पुनः शुरुआत, बुकिंग भी शुरू

मुंबई। भारतीय रेलवे द्वारा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और गृह मंत्रालय के परामर्श से 1 जून, 2020 से 100 जोड़ी पैसेंजर ट्रेन सेवाओं को फिर से चालू करने का निर्णय लिया गया है। इन एक सौ जोड़ी ट्रेन सेवाओं में से पश्चिम रेलवे द्वारा मुंबई और अहमदाबाद से देश के अन्य हिस्सों के लिए 17 जोड़ी ट्रेन सेवाएं चलाई जायेंगी। ये ट्रेनें मेल एक्सप्रेस ट्रेनें होंगी। भारतीय रेल द्वारा 1 जून 2020 से शुरू होने वाली ट्रेन सेवाओं के लिए कुछ दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं।
पश्चिम रेलवे की 17 जोड़ी ट्रेन सेवाओं की सूची नीचे दी गई है:-
List of Mail/Express Trains
S. No.
Train No.
From
To
Train Name
1.
02933/02934
Mumbai Central
Ahmedabad
Karnavati Express
2.
02955/02956
Mumbai Central
Jaipur
MMCT Jaipur Express
3.
02903/02904
Mumbai Central
Amritsar
Golden Temple Mail
4.
02479/02478
Bandra Terminus
Jodhpur
Suryanagri Express
5.
02925/02926
Bandra Terminus
Amritsar
Paschim Express
6.
09041/09042
Bandra Terminus
Ghazipur
BDTS Ghazipur Express
7.
09045/09046
Surat
Chhapra
Tapti Ganga Express
8.
02833/02834
Ahmedabad
Howrah
ADI Howrah Express
9.
09165/09166
Ahmedabad
Darbhanga
Sabarmati Express
10.
09167/09168
Ahmedabad
Varanasi
Sabarmati Express
11.
02947/02948
Ahmedabad
Patna
Azimabad Express
12.
02915/02916
Ahmedabad
Delhi
Ashram Express
13.
09083/09084
Ahmedabad
Muzaffarpur
Special Train Via Surat
14.
09089/09090
Ahmedabad
Gorakhpur
Special Train Via Surat
15.
09037/09038
Bandra Terminus
Gorakhpur
Avadh Express
16.
09039/09040
Bandra Terminus
Muzaffarpur
Avadh Express
17.
02917/02918
Ahmedabad
H. Nizamuddin
Gujarat Sampark Kranti

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी रविन्द्र भाकर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इन गाड़ियों के चलने से प्रवासी व्यक्तियों के साथ-साथ उन लोगों को भी मदद मिलेगी, जो श्रमिक स्पेशल गाड़ियों के अलावा अन्य गाड़ियों से यात्रा करना चाहते हैं। ये गाड़ियां 1 जून, 2020 से चलेंगी और इन सभी गाड़ियों की टिकट बुकिंग 21 मई, 2020 से शुरू हो चुकी है। ये विशेष ट्रेन सेवाएं, मौजूदा श्रमिक स्पेशल (01 मई, 2020 से चल रही) और 30 स्पेशल एसी ट्रेनों (12 मई, 2020 से चल रही) के अलावा शुरू की गई गाड़ियां हैं। अन्य सभी मेल / एक्सप्रेस, पैसेंजर और उपनगरीय ट्रेन सेवाओं सहित अन्य नियमित यात्री सेवाएं , अगली सूचना प्राप्त होने तक रद्द रहेंगी। इन नई गाड़ी सेवाओं में वातानुकूलित तथा गैर वातानुकूलित दोनों श्रेणियां रहेंगी और ये पूर्णतः आरक्षित सेवाएं होंगी। जनरल कोचों में भी बैठने के लिए आरक्षित सीटें उपलब्ध कराई जाएंगी। गाड़ियों में अनारक्षित कोच नहीं होंगे। इन गाड़ियों के लिए किराया सामान्य होगा और जनरल कोचों को आरक्षित करने के कारण उनका किराया सेकंड सीटिंग किराया होगा तथा सभी यात्रियों के लिए सीट उपलब्ध कराई जाएगी।
पुनः शुरू की गई इन गाड़ी सेवाओं में यात्रा करने हेतु विभिन्न दिशानिर्देश निम्न प्रकार है:-
टिकटों की बुकिंग और चार्टिंग:
1. आईआरसीटीसी की वेबसाइट या इसके द्वारा ही केवल ऑनलाइन ई टिकटिंग की जाएगी। किसी भी रेलवे स्टेशन के पीआरएस काउंटर पर टिकट बुक नहीं की जाएगी।
2. एआरपी (अग्रिम आरक्षण अवधि) अधिकतम 30 दिन की रहेगी।
3. मौजूदा नियमों के अनुसार आरएसी और प्रतीक्षा सूची दी जाएगी। यद्यपि प्रतीक्षा सूची टिकटधारकों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।
4. कोई यूटीएस टिकट जारी नहीं की जाएगी। तत्काल और प्रीमियम तत्काल बुकिंग की अनुमति नहीं है।
5. निर्धारित प्रस्थान के कम से कम 4 घंटे पूर्व पहला चार्ट तैयार किया जाएगा। निर्धारित प्रस्थान के 2 घंटे पूर्व दूसरा चार्ट तैयार किया जाएगा। पहले तथा दूसरे चार्ट की तैयारी के बीच में ऑनलाइन करंट बुकिंग की अनुमति दी जाएगी।
6. केवल कंफर्म टिकट धारक यात्रियों को ही रेलवे स्टेशन में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
7. सभी यात्रियों की अनिवार्यतः थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। केवल बिना लक्षण वाले यात्रियों को ही प्रवेश तथा यात्रा की अनुमति होगी।
8. सभी यात्रियों को प्रवेश तथा यात्रा के दौरान चेहरे को ढंकना / मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
9. सभी यात्रियों को स्टेशन पर थर्मल स्क्रीनिंग के लिए कम से कम 90 मिनट पहले पहुंचना होगा।
10. सभी यात्रियों को स्टेशन तथा गाड़ियों में सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) का पालन करना होगा।
11. गंतव्य पर पहुंचने पर गंतव्य राज्य / यूटी द्वारा निर्धारित हेल्थ प्रोटोकॉल का यात्रियों को कड़ाई से पालन करना होगा।
अनुमत कोटा:
इन विशेष गाड़ियों में नियमित गाड़ियों के समान ही समस्त कोटा की अनुमति दी जाएगी।
दिव्यांगजन रियायत की चार श्रेणियों तथा मरीज़ रियायतों की 11 श्रेणियों को ही इन ट्रेनों में अनुमति दी जाएगी।
निरस्तीकरण और धन वापसी के नियम लागू होंगे।

गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी यात्रियों की अनिवार्य तौर पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी तथा केवल रोग के कोई लक्षण न पाए जाने वाले यात्रियों को ही ट्रेन में प्रवेश / यात्रा की अनुमति होगी। स्क्रीनिंग के दौरान यदि किसी यात्री को तेज बुखार होगा अथवा उसमें कोविड-19 का कोई लक्षण दिखाई देगा तो उसके पास भले ही कंफर्म टिकट हो, उसे यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। ऐसे मामलों में यात्री को निम्नानुसार धन वापसी की जाएगी:
(ए) एकमात्र यात्री के पीएनआर पर
(बी) पार्टी टिकट होने की स्थिति में यदि कोई एक यात्री यात्रा के लिए अनफिट पाया जाता है और शेष सभी यात्री यात्रा नहीं करना चाहते हैं तो उस पीएनआर के सभी यात्रियों के टिकट की पूर्ण धनवापसी अनुमत होगी।
(सी) पार्टी टिकट होने की स्थिति में यदि कोई एक यात्री यात्रा के लिए अनफिट पाया जाता है, पर उसकी एन आर के अन्य सभी यात्री यात्रा के इच्छुक हो तो उस अनफिट यात्री के टिकट की पूर्ण वापसी अनुमत होगी।

उपरोक्त समस्त मामलों में यात्री को प्रवेश जांच स्क्रीनिंग पॉइंट पर ही एक या एक से अधिक यात्रियों में कोविड-19 के लक्षण होने के कारण यात्रा न करने वाले यात्रियों की संख्या का उल्लेख करते हुए किटी सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा प्राप्त होने के बाद यात्रा की तिथि से 10 दिन के अंदर यात्रा किए गए यात्री के टिकट की धन वापसी के लिए ऑनलाइन टीडीआर फाइल किया जाएगा और जारी किए गए सर्टिफिकेट की मूल प्रति यात्री द्वारा निर्धारित अनुसार आईआरसीटीसी को प्रेषित की जाएगी इसके पश्चात यात्रा किए गए आंशिक अथवा पूर्ण यात्रियों का पूरा किराया आईआरसीटीसी द्वारा ग्राहकों के खाते में वापस कर दिया जाएगा।

खानपान:
किराए में खानपान शुल्क शामिल नहीं किया जाएगा।
प्रीपेड भोजन बुकिंग ईकैटरिंग संबंधी व्यवस्था मौजूद नहीं होगी।
तथापि आईआरसीटीसी द्वारा पैंट्री कार वाली सीमित गाड़ियों में ही भुगतान आधार पर कुछ गिने-चुने खाद्य पदार्थ और पैकेज्ड पीने के पानी की व्यवस्था की जाएगी। टिकट बुकिंग करते समय इसके बारे में सूचना उपलब्ध कराई जाएगी।
यात्रियों के लिए बेहतर होगा कि वह अपना भोजन और पीने का पानी अपने साथ लेकर यात्रा करें।
सभी स्थाई खानपान यूनिटें और वेंडिंग यूनिटें (मल्टी पर्पस स्टॉल, बुक स्टॉल, विविध / केमिस्ट स्टॉल आदि) रेलवे स्टेशनों पर खुली रहेंगी।
फूड प्लाजा और रिफ्रेशमेंट रूम आदि में पके हुए और पैक करा कर साथ ले जाने वाले खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जाएंगे।
चादरें एवं कम्बल:
गाड़ियों में चादरों कम्बलों और परदों की व्यवस्था उपलब्ध नहीं होगी।
यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वह यात्रा के लिए अपने साथ चादर, कंबल आदि लेकर यात्रा करें।
इस दृष्टि से एसी कोचों के अंदर तापमान उचित रूप से रेगुलेट किया जाएगा।
रेलवे स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार यथासंभव अलग-अलग होंगे जिससे कि यात्री एक दूसरे के आमने – सामने से न चलकर जाएं। स्टेशनों और गाड़ियों के लिए मानक सोशल डिस्टेंसिंग दिशानिर्देशों के अनुरूप रेलवे कार्य करेगी और संरक्षा, सुरक्षा तथा स्वास्थ्य संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करेगी। सभी यात्री “आरोग्य सेतु” एप्लीकेशन अवश्य डाउनलोड करें और उसका उपयोग करें। यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वह कम सामान के साथ यात्रा करें। गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार यात्रियों और स्टेशन से / तक यात्रियों को ले जाने वाले वाहनों के ड्राइवरों की आवाजाही को कंफर्म ई-टिकट के आधार पर अनुमति मिलेगी।

Check Also

उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और दक्षिण राजस्थान में अलग-अलग भारी बारिश की संभावना

मौसम से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें  1. केंद्रीय अरब सागर, कर्नाटक, तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल, दक्षिण-पश्चिम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *