पिछले साल से ज्‍यादा क्षेत्रों में हुई ग्रीष्मकालीन फसलों की बुवाई, लॉकडाउन के बावजूद खरीद में भी वृद्धि

ग्रीष्मकालीन फसलों की बुवाई

ग्रीष्मकालीन फसलों के बुवाई क्षेत्र का कवरेज निम्‍नलिखित है :

  • चावल: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 25.29 लाख हेक्टेयर की तुलना में इस बार ग्रीष्मकालीन चावल के अंतर्गत लगभग 34.87 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।
  • दलहन : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 9.67 लाख हेक्टेयर की तुलना में दलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 12.82 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।
  • मोटा अनाज : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 7.30 लाख हेक्टेयर की तुलना में मोटे अनाज के अंतर्गत इस बार लगभग 10.28 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।
  • तिलहन : पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 7.34 लाख हेक्टेयर की तुलना में तिलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 9.28 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया।

 

दलहन और तिलहन की खरीद :

 

लॉकडाउन अवधि के दौरान नेफेड द्वारा 5.89 लाख मीट्रिक टन चना, 4.97 लाख मीट्रिक टन सरसों और 4.99 लाख मीट्रिक टन तुअर की खरीद की गई है।

 

गेहूं की खरीद :

 

रबी विपणन सीजन (आरएमएस) 2020-21 में, एफसीआई में कुल 337.48 लाख मीट्रिक टन गेहूं प्राप्त हुआ, जिसमें 326.96 लाख मीट्रिक टन खरीदा गया है।

 

पीएम किसान :

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार कोविड-19 महामारी को देखते हुए लॉकडाउन अवधि के दौरान क्षेत्र (फील्‍ड) स्तर पर किसानों और कृषि गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय कर रहा है। लॉकडाउन अवधि अर्थात 24.03.2020 से लेकर अब तक की अवधि के दौरान  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के अंतर्गत  लगभग 9.55 करोड़ किसान परिवारों को लाभान्वित किया गया है और अब तक 19100.77 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं।

Check Also

उत्पादन कटौती के कारण कच्चे तेल के कीमतों में वृद्धि

  मुंबई: ओपेक और रूस की ओर से अगले कुछ महीनों में आक्रामक उत्पादन कटौती …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *