सनातन चैतन्यवाणी एप’ का लोकार्पण

मुंबई – वर्तमान के भागदौड के जीवन में और चल रहे संकटकाल में अनेक लोग सनातन धर्म की ओर बढ रहे हैं । समाज धर्म और अध्यात्म के विषय में जिज्ञासा की दृष्टि से देख रहे हैं । समाज को शुद्ध और योग्य उच्चारशुद्ध भाषाशास्त्रशुद्ध पद्धति से और भावपूर्ण आवाज में और सबसे महत्त्वपूर्ण कि संतों और साधना करनेवाले साधकों द्वारा सात्त्विक वाणी में चैतन्यदायी ऑडिओ सभी को उपलब्ध होंइस हेतु सनातन संस्था द्वारा ‘सनातन चैतन्यवाणी’ ऑडिओ एप उपलब्ध किया है । इस एप में सात्त्विक स्तोत्रश्‍लोकआरतियां और नामजप का संग्रह है । ‘अक्षय्य तृतीया’के शुभमुहूर्त पर सनातन संस्था की सद्गुरु (श्रीमतीअंजली गाडगीळ के शुभहस्तों इस एप का प्रकाशन किया गया । लॉकडाऊन होने से अत्यंत ही सादे ढंग से ‘सोशल डिस्टंसिंग’का पालन करते हुएमंत्रोच्चारों के साथ गोवा के सनातन आश्रम में इसका प्रकाशन किया गया । आज ‘सनातन चैतन्यवाणी’ एप ‘गुगल प्ले स्टोर’पर सभी के लिए उपलब्ध हुआ है । मराठी भाषा में बनाया गया यह एप यथाशीघ्र अन्य भाषाआें में भी उपलब्ध होगा । इस अवसर पर सद्गुरु (श्रीमतीअंजली गाडगीळ ने आवाहन किया है कि अधिकाधिक लोग यह एप डाऊनलोड करउसका उपयोग करें और सात्त्विक स्तोत्रआरतीश्‍लोकनामजप आदि का लाभ लें । 

सनातन हिन्दू धर्म की तेजस्वी धरोहर जतनसंवर्धन और प्रसार होइसके लिए सनातन संस्था ने अथक परिश्रम से यह एप विकसित किया गया है । इस ऑडिओ एप में सात्त्विक पुरोहितों द्वारा कहे गए श्रीदुर्गासप्तश्‍लोकीश्री गणेश अथर्वशीर्षश्रीरामरक्षास्तोत्रमारुतिस्तोत्रश्रीकृष्णाष्टकअगस्त्योक्तआदित्यहृदयस्तोत्र हैं । इसके साथ ही संतों द्वारा विशिष्ट लय में कहे गए श्रीरामश्रीकृष्णश्री गणेशश्री दुर्गादेवीदत्तात्रेय और शिव के नामजप हैं । भावपूर्ण लय में साधकों द्वारा गाए विविध देवताआें की आरतियों सहित वर्षभर में आनेवाले विविध त्योहारों के समय और प्रतिदिन कहे जानेवाले विविध श्‍लोकों का भी समावेश इस एप में किया गया है । सनातन संस्था ने लोगों का आवाहन किया है यह एप ‘गुगल प्ले स्टोर’की निम्न दी गई लिंक पर डाऊनलोड करें ।

Check Also

विपक्ष वोट बैंक के लिए जम्मू कश्मीर में जनसंख्या संरचना का हौआ खड़ा कर रहा है: डॉ. जितेंद्र सिंह

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने विपक्षी राजनीतिक दलों पर बरसते हुए आज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *