मुबंई बॉर्डर पर फंसे लोगों के लिए आगे आए शिशोदा के मेघराज धाकड़, शुरू की भोजन व्यवस्था 

पत्रकारों की टीम भी मौजूद

 मुंबई – कोरोना को देश में फैलने से रोकने पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है. लेकिन, बड़ी संख्या में मुबंई में काम करने वाले  राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, के दिहाड़ी मजदूरों, कामगारों द्वारा गांव जाने कि आस मे  महाराष्ट्र गुजरात बोर्डर की ओर जाने का सिलसिला थम नही  रहा है।  गुजरात सरकार की सख्ती के चलते बडी संख्या में लोगों ने वही डेरा डाल रखा है।

इसी क्रम रविवार को वसई में बाबा रामदेव मंदिर पर मेवाड़ के शिशोदा गांव निवासी युवा समाजसेवी मेघराज धाकड़ की और से बॉर्डर पर फंसे हुए लोगों के लिए भोजन के पैकेट की व्यवस्था कर उन्हे राहत देने का प्रयास किया जा रहा है।

बोर्डर पर वितरण व्यवस्था में सहयोग दे रहे
प्रञकार लाल सिंह तलादरा के अनुसार राजस्थान प्रेस क्लब के पत्रकारों के द्वारा मंगल चेरिटेबल ट्रस्ट के मेघराज धाकड़ को बार्डर कि हालात के बारे में किए गए निवेदन के बाद शुरू हुए इस मानव उपयोगी प्रकल्प मैं बडी संख्या में लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

वरिष्ठ पत्रकार संपादक अरुण उपाध्यक्ष के अनुसार राजस्थान व अन्य राज्य मे जा रहे लोगो को तुरंत सहयोग की आवश्यकता है ऐसे समय मे और भी संस्थानों को आगे आना चाहिए।

भोजन वितरण व्यवस्था में  सहयोग कर रहे वरिष्ठ पत्रकार कृपाशंकर दवे लक्ष्यकार के अनुसार  देशभर में हुए लोग डाउन के बाद भी प्रवासी मजदूर पिछले 4 दिनों से बड़ी संख्या में पैदल चलते हुए महाराष्ट्र गुजरात की बॉर्डर पर जमे हुए हैं। जहां पर उनके खाने-पीने की को लेकर बड़ी समस्या आ रही हैं, ऐसे समय में मेवाड़ की मंगल चैरिटेबल ट्रस्ट संस्था द्वारा आगे आकर लोगों के लिए जो मानव सेवा का कार्य किया जा रहा है वह बहुत ही प्रशंसनीय एवं सराहनीय है

एक पुलिस अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि इतनी बड़ी संख्या में लोगों के आने की वजह से बॉर्डर पर अफरा-तफरी भी मची हुई है. ऐसे समय में बॉर्डर पर भारी संख्या में भोजन और पानी की किल्लत है

व्यवस्था संयोजक मनीष पालीवाल केसुली, के अनुसार में धाकड़ द्वारा शुरू किए गए प्रकल्प में प्रञकारो की टीम के  ,  सोहन  भडाना, प्रकाश प्रजापति, शंभु सिंह, धर्मश प्रजापति, केलाश चोधरी, छगनसिंह पंवार, गिरधारी सिंह पंवार संपत उजाला, नरेश आमेटा, हमेर पालीवाल, प्रमोद सुर्या, सहीत पीरो के पिर रामापीर ट्रस्ट के पदाधिकारियों, मंगल चैरिटेबल ट्रस्ट के प्रविण हिरण, सदस्यों द्वारा  सहयोग किया जा रहा है l

राजस्थान प्रेस क्लब के अध्यक्ष नीरज दवे, महामंत्री कन्हैयालाल खंडेलवाल, वरिष्ठ सलाहकार जगदीश राजपुरोहित ने इस कार्य की सराहना की है

आला अधिकारियों से की बात….
महाराष्ट्र बॉर्डर पर फंसे हुए हैं उदयपुर संभाग के लोगों को निकालने के लिए मेघराज धाकड़ द्वारा सरकार के आला अधिकारियों से चर्चा कर वास्तविक पीड़ित लोगों को गुजरात होते हुए राजस्थान पहुंचाने की व्यवस्था के लिए चर्चा की जा रही है,

Check Also

पश्चिम रेलवे ने 1200 श्रमिक विशेष ट्रेनों का बड़ा ऑंकड़ा किया पार, जिनके ज़रिये 18 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर पहुॅंचे अपने गृहनगर

 मुंबई। पश्चिम रेलवे अधिकाधिक प्रवासी मजदूरों को उनके गृहनगर तक सुरक्षित पहुॅंचाने में मदद करके …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *