महिंद्रा लॉजिस्टिक्स ने वी.एस. पार्थसारथी को नाॅन-एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त किया

मुंबई। लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में देश के सबसे बड़े 3पीएल समाधान प्रदाताओं में से एक महिंद्रा लॉजिस्टिक्स लिमिटेड (एमएलएल) ने आज श्री वी.एस. पार्थसारथी को नाॅन-एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त करने की घोषणा की। उनकी नियुक्ति 25 मार्च, 2020 से प्रभावी होगी।

अपनी नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए वी एस पार्थसारथी ने कहा, ‘‘मैं महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के बोर्ड में इसके चेयरमैन के रूप में शामिल होकर प्रसन्नता का अनुभव कर रहा हूं। मेरा दृढ़ता से मानना है कि लॉजिस्टिक्स क्षेत्र भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। महिंद्रा लॉजिस्टिक्स पहले से ही कार्गो और पीपल मूवमेंट व्यवसाय दोनों में एक साहसी और अग्रणी कंपनी है और यह महिंद्रा ग्रुप से तालमेल बनाकर और उन्नत नई तकनीकों का लाभ उठाते हुए लॉजिस्टिक्स उद्योग को फिर से परिभाषित करना जारी रखेगा।‘‘

पार्थसारथी वर्तमान में 31 मार्च, 2020 तक महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के ग्रुप सीएफओ और ग्रुप सीआईओ हैं। 1 अप्रैल, 2020 से वह महिंद्रा ग्रुप के नए बनाए गए मोबिलिटी सर्विसेज सेक्टर की कमान संभालेंगे। वह महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के ग्रुप एक्जीक्यूटिव बोर्ड के सदस्य हैं और महिंद्रा समूह की अनेक सूचीबद्ध कंपनियों और अन्य इकाइयों के निदेशक मंडल में हैं, जिनमें स्मार्टशिफ्ट लॉजिस्टिक्स सॉल्यूशंस जैसी इकाई भी है, जिसमें वे चेयरमैन हैं।

उन्होंने अपने कॅरियर की शुरुआत मोदी जेरॉक्स के साथ मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में की। 2000 में महिंद्रा एंड महिंद्रा में शामिल होने से पहले, वह जेरॉक्स में एसोसिएट डायरेक्टर थे। उन्होंने काॅमर्स में ग्रेजुएशन किया है और वे इंस्टीट्यूट आॅफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स आॅफ इंडिया के फैलो मेंबर और इंस्टीट्यूट आॅफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स आॅफ इंग्लैंड और वेल्स के सदस्य हैं। वे हार्वर्ड के एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम (2011) के पूर्व छात्र हैं।
श्री पार्थसारथी ने श्री झोबेन भिवंडीवाला से पदभार ग्रहण किया, जिन्होंने महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के नाॅन-एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और बोर्ड के चेयरमैन रूप में अपना कार्यकाल आज पूरा किया। श्री भिवंडीवाला ने पिछले एक दशक में कंपनी की विकास रणनीति तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और एमएलएल में कॉर्पोरेट गवर्नेंस के उच्च मानक स्थापित किए। वे अब महिंद्रा पार्टनर्स एंड ग्रुप लीगल के प्रेसीडेंट और महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के ग्रुप एग्जीक्यूटिव बोर्ड के सदस्य के रूप में अपनी भूमिका निभाएंगे।

डारियस पंडोले, चेयरपर्सन ऑफ द नॉमिनेशन एंड रेम्यूनरेशन कमेटी आॅफ एमएलएल बोर्ड ने कहा, ‘‘निदेशक मंडल के डायरेक्टर और चेयरमैन के तौर पर वी एस पार्थसारथी का जुड़ना महिंद्रा ग्रुप के भीतर अपने व्यवसाय के अनुभव और लंबे समय तक कॅरियर को देखते हुए कंपनी के लक्ष्यों को हासिल करने के लिहाज से बहुत मूल्यवान साबित होगा। हम उनकी नियुक्ति की अनुशंसा करते हैं और बोर्ड में उनका स्वागत करते हैं। हम पिछले कुछ वर्षों में कंपनी के डायरेक्टर और चेयरमैन के रूप में उनके अमूल्य योगदान के लिए श्री झोबेन भिवंडीवाला को भी धन्यवाद देना चाहते हैं।‘‘

Check Also

डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 6 पैसे मजबूती के साथ 76.28 पर

नई दिल्‍ली/मुंबई।xशेयर बाजार में तेजी की वजह से डॉलर के मुकाबले रुपया 6 पैसे की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *