फ्लिपकार्ट ने एगॉन लाइफ इंश्‍योरेंस के साथ की साझेदारी

मुंबई। घरेलू ई-कॉमर्स मार्केटप्‍लेस फ्लिपकार्ट और भारत में डिजिटल बीमा में अग्रणी एगॉन लाइफ इंश्‍योरेंस ने अपने ग्राहकों को समग्र बीमा समाधान बेचने के लिए हाथ मिलाया है। मार्च 2020 से ग्राहकों के लिए 10 लाख रुपये तक की बीमा राशि वाली इंस्‍टैंट डिजिटल पॉलिसी उपलब्‍ध होगी। डिजिटल पॉलिसी के माध्यम से तत्काल जीवन बीमा कवर इसका मौलिक मूल्‍य प्रस्‍ताव है और ऐसी पॉलिसीज़ के लिए चिकित्‍सा जांच या कागजी कार्रवाई की आवश्यकता नहीं होती है तथा यह पूरी तरह परेशानी मुक्‍त होती है।

देश में उपलब्ध सभी प्रकार के बीमा उत्‍पादों में जीवन बीमा की पहुंच दूसरे नंबर पर है। बीमा उद्योग के समक्ष आज सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसे खरीदना महंगा और बोझिल माना जाता है, इसके साथ ही लंबी और सख्‍त अवधि तथा भ्रामक तरीके से बीमा उत्‍पादों की बिक्री से जुड़ी समस्‍याएं हैं। इस उत्पाद के साथ, फ्लिपकार्ट और एगॉन लाइफ का लक्ष्य इन मुद्दों को हल करना और सुविधाजनक तथा पारदर्शी तरीके से एक बटन के क्लिक पर ग्राहकों को जीवन बीमा उपलब्ध कराना है।

फ्लिपकार्ट पर विभिन्‍न तरह की जीवन बीमा पॉलिसीज़ की पेशकश की जा रही है, जिनमें 1 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक की बीमा राशि (सम एश्‍योर्ड) उपलब्‍ध है, और इसका प्रीमियम 1 लाख रुपये की बीमा राशि पर 129 रुपये से शुरू होती है। ये पॉलिसियां 18 से 65 साल की उम्र वाले फ्लिपकार्ट के मौजूदा ग्राहकों के लिए उपलब्‍ध होंगी। इस पेशकश के साथ, फ्लिपकार्ट का उद्देश्य महागनरों और महानगर से इतर शहरों में रहने वाले भारतीयों के लिए जीवन बीमा को अधिक सुलभ बनाना और इंडिया तथा भारत को समान रूप से सेवा प्रदान करना है। अपनी प्रौद्योगिकी और साझेदारी को एक साथ प्‍लेटफॉर्म पर पेश करते हुए, यह उत्पाद ज्‍यादा सहज प्रक्रिया, कम प्रीमियम और उपभोक्ताओं के लिए एक लचीली परिपक्‍वता

अवधि प्रदान करेगा। इस उत्पाद के माध्यम से फ्लिपकार्ट का लक्ष्य बीमा क्षेत्र में ग्राहकों की प्रमुख चिंता को दूर करना और विश्वास, पारदर्शिता तथा विश्वसनीयता को बढ़ाना है।

फ्लिपकार्ट में फिनटेक और पेमेंट्स ग्रुप के हेड ने रंजीत बोयनापल्ली ने कहा, ‘‘स्‍वदेशी कंपनी होने के नाते फ्लिपकार्ट का मुख्‍य मकसद हमेशा से ही भारतीय ग्राहकों की जरूरतों के मुताबिक उत्‍पाद विकसित करना रहा है। हम ऐसे समाधान विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो इंडिया और भारत के बीच की खाई को पाटने में मदद करेगा और हमें विश्वास है कि इस बीमा पॉलिसी की आसान पहुंच इस बदलाव को बढ़ावा देने में उत्प्रेरक का काम करेगी। इस उत्पाद के साथ, हम इनोवेटिव और विश्‍वसनीय वित्‍तीय उत्‍पाद ग्राहकों के फिंगरटिप्‍स पर उपलब्ध कराना और उन्हें परेशानी मुक्त अनुभव प्रदान करना चाहते हैं। इस लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए हम एगॉन लाइफ के साथ एक सार्थक साझेदारी की उम्‍मीद करते हैं, जो ग्राहक-प्रथम के सामान मूल्‍यों की रणनीति में यकीन करती है और कुछ गिनी-चुनी इनोवेटिव कंपनियों में से एक है, जो उसे इस साझेदारी के लिए सबसे उपयुक्त बनाता है।’

साझेदारी पर चर्चा करते हुए एगॉन लाइफ इंश्‍योरेंस के सरएफओ एवं प्रिंसिपल ऑफिसर श्री सतीश्वर बालकृष्णन ने कहा, ‘डिजिटल प्‍लेटफॉर्म्‍स के जरिये बीमा उत्‍पादों की बिक्री करने वाली हम पहले बीमाकर्ताओं में से हैं और भारत में व्‍यापक ग्राहक आधार वाली फ्ल‍िपकार्ट वन-टॉप-शॉप का पर्याय बन गई है। हम अपनी साझेदारी में शानदार तालमेल देख रहे हैं और अपने उत्पादों को बेचने के लिए फ्लिपकार्ट से हाथ मिला कर बेहद खुश हैं। यह अब तक के हमारे सबसे बड़े रणनीतिक गठजोड़ों में से एक है और यह बीमा को डायरेक्ट-टू-कस्टमर (डी 2 सी) को बेचने की हमारी रणनीति के अनुरूप है। हम प्‍लेटफॉर्म के माध्‍यम से विशेष कीमत पर कस्‍टमाइज्‍़ड उत्‍पादों, त्‍वरित बीमा और शीर्ष सेवाएं मुहैया कराएंगे।’’

उन्‍होंने आगे कहा, ‘‘एगॉन लाइफ इंश्‍योंरस में हम ग्राहकों तक हमेशा ऑनलाइन माध्‍यम से पहुंचने का तरीका तलाशते रहते हैं। काफी संख्‍या में भारतीय ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं, ऐसे में बीमा सेवाओं की ऑनलाइन बिक्री की काफी संभावनाएं हैं और फ्ल‍िपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म्‍स की ग्राहकों के बीच अनूठी अपील है। यह साझेदारी पूरे भारत में अपने टर्म बीमा समाधानों का विस्‍तार करने और उसकी पहुंच बढ़ाने में हमारी मदद करेगी।’’

पूर्ण रूप से डेटा संचालित डिजिटल कंपनी और ग्राहकों की जरूरतों को प्राथमिकता देने की पूरक क्षमता वाली एगॉन लाइफ और फ्लिपकार्ट की यह साझेदारी दोनों पक्षों और ग्राहकों के लिए फायदे का सौदा है।

Check Also

डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 6 पैसे मजबूती के साथ 76.28 पर

नई दिल्‍ली/मुंबई।xशेयर बाजार में तेजी की वजह से डॉलर के मुकाबले रुपया 6 पैसे की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *