Home / मुंबई की खबरें / रक्तदाता से भी महान होते हैं मतदाता

रक्तदाता से भी महान होते हैं मतदाता



समर प्रताप सिंह
ठाणे। वैसे तो रक्तदान को सबसे बड़ा दान कहा जाता है। लेकिन जब मतदान की बात आती है तो मतदान का महत्व रक्तदान से भी बढ़$ जाता है। रक्तदान से किसी एक व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। लेकिन मतदान द्वारा हम नए राष्ट्र का निर्माण नए सिरे से करने में सक्षम हो सकते हैं। मतदान किसे करना है यत मतदाता ही तय करेंगे, लेकिन महाराष्ट्र के हर मतदाताओं को चाहिए कि वे अपने मताधिकार का उपयोग अवश्य करे। यही मत राज्य के साथ ही देश की दिशा तय करता है। इस बाबत समाजसेवी और सेवाभावी संस्था रूद्र प्रतिष्ठान ने महाराष्ट्र के तमाम मतदाताओं से अपील की है कि वे २१ तारीख को अवश्य मतदान करें। इससे बननेवाली सरकार को मजबूती मिलेगी और राज्य में सशक्त विपक्षी दल का भी उदय होगा।
रूद्र प्रतिष्ठान की ओर से मतदान के बाबत मतदाताओं से अ्पील की गई है कि वे विधानसा चुनाव में अवश्य मतदान करें। इस संदर्भ में जानकारी देते हुए प्रतिष्ठान के अध्यक्ष विनय कुमार ंिसंह ने बताया कि उसकी संस्था पहले से ही प्रतिष्ठान के मार्गदर्शक धनंजय सिंह के निर्देशानुसार मतदाता जागरण को लेकर काम करते रहे हैं। चुनाव की तिथि सरकारी स्तर पर घोषित होने के पहले से ही प्रतिष्ठान के पदाधिकारी और सदस्य मतदान के बाबत जनजागृति का काम कर रहे थे।
धनंजय सिंह का कहना है कि रक्तदान सबसे बड़ा दान है। इसे महादान$ का दर्जा प्राप्त है। लेकिन जब बात मतदान की आती है तो यह रक्तदान से भी महत्वपूर्ण हो जाता है। एक मत से केंद्र या राज्य में सरकार गिर सकती है। ऐसे उदाहरण हमारे देश में हैं। सबसे अधिक महत्वपूर्ण बात है कि आधे-अधूरे मतदान के कारण ही सरकार कमजोर हुआ करती है। यदि १०० प्रतिशत मतदान हुए तो सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ही मजबूती की स्थिति में रहेगा। सरकार राज्य के कल्याण को लेकर सही निर्णय ले पाएगी। यदि सरकार कमजोर रही तो शासकीय नीतियों के अमल में भी परेशानी होती है। इस कमी को मतदान के द्वारा ही कम किया जा सकता है।
इतना ही नहीं महाराष्ट्र के नागरिकों से प्रतिष्ठान के अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने अपील की है कि वे मतदान के दौरान दिव्यांग मतदाताओं को अपने-अपने एरिया में मदद पहुंचाएं। उन्हें मतदान केंद्र तक ले जाने में सहयोग करें। सरकार की ओर से तो कई तरह तरह की व्यवस्थाएं चुनाव को लेकर की जाती है। लेकिन हर मतदाता तक पहुंचना प्रशासन के लिए संभव नहीं है। स्थानीय नागरिकों से संस्था ने अपील की है कि वे वैसे लोगों को जो मतदान के प्रति उदासीन रहते हैं उन्हें मतदान करने के लिए प्रेरित करें। ऐसा पुण्य काम कर वे राज्य और देश को मजबूत करने में बड़ा $िनजी योगदान दे सकते हैं।

Check Also

महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख का दावा, भाजपा जल्द बनाएगी राज्य में सरकार

 मुंबई। महाराष्ट्र भाजपा के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में फिर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *