आरबीआई ने की रेपो दर में 25 आधार अंकों की कटौती

कमी का उद्देश्‍य आवास और वाहन ऋण की दरों में कमी लाना

 मुंबई। मुंबई में आज भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए उदार नीति जारी रखने का फैसला किया है ताकि महंगाई नियंत्रण में रहे। इसके तहत आरबीआई ने रेपो दर में 25 आधार अंकों की कटौती करते हुए इसे पांच दशमलव चार प्रतिशत से घटाकर तत्काल प्रभाव से पांच दशमलव एक-पांच प्रतिशत कर दिया है। रिवर्स रेपो दर भी घटाकर चार दशमलव नौ प्रतिशत और बैंक दर पांच दशमलव चार प्रतिशत कर दी गई है।

इस वर्ष बैंक ने लगातार पांचवीं बार रेपो दर में कमी की है। रेपो दर में कमी का उद्देश्‍य आवास और वाहन ऋण की दरों में कमी लाना है जो अब इस दर के साथ सीधे जुड़ गए हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंक की चौथी द्विमासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए मौद्रिक नीति समिति ने कहा कि बैंक ने वर्ष 2019-20 के लिए सकल घरेलू उत्‍पाद का अनुमान छह दशमलव नौ प्रतिशत से घटाकर छह दशमलव एक प्रतिशत कर दिया है। वर्ष 2020-21 के लिए यह अनुमान संशोधित करके सात दशमलव दो प्रतिशत कर दिया गया है।

Check Also

2019-20 के लिये एनबीएचसी का अंतिम रबी फसल अंदाज

मुंबई। जून-सितंबर के महीनों के दौरान वर्षा औसत से 10 प्रतिशत अधिक थी। एसडब्ल्यू मानसून …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *