Home / सामाजिक/सांस्कृतिक / मिरेकल फाउंडेशन द्वारा ‘चिल्ड्रंस यूथ एम्बेसेडर प्रोग्राम’ की घोषणा

मिरेकल फाउंडेशन द्वारा ‘चिल्ड्रंस यूथ एम्बेसेडर प्रोग्राम’ की घोषणा

अनाथ और जोखिम का सामना कर रहे बच्चों को सशक्त करने का लक्ष्य

मुंबई:अनाथ और जोखिम का सामना कर रहे बच्चों को सशक्त बनाने और उन्हें अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचाने के अपने उद्देश्य को रेखांकित करते हुए पूरी तरह से लाइसेंस प्राप्त धारा 25 के तहत रजिस्टर्ड गैर-लाभकारी संगठन मिरेकल फाउंडेशन इंडिया ने अपनी पहली यूथ एंबेसेडर वर्कशॉप  ‘मीटिंग ऑफ द चैम्पियंस’ का आयोजन किया। मिरेकल फाउंडेशन इंडिया को 17 बाल देखभाल संस्थानों में रहने वाले बच्चों से कुल 78 आवेदन मिले थे, जिनमें से बारह का चयन कार्यशाला में किया गया। ये यूथ एंबेसेडर 13 से 21  वर्ष की आयु के बीच के हैं और यह विभिन्न क्षेत्रीय विविधताओं से ताल्लुक रखते हैं। यह बच्चे अपने जैसे लाखों बच्चों की आवाज़ बनेंगे। मिरेकल यूथ एंबेसेडर्स का मूल्यांकन लिखित और वीडियो आवेदनों के आधार पर उनके पैशन, कम्युनिकेशन, प्रस्तुति, एंगेजमेंट जैसे मापदंडों पर किया गया था।

मिरेकल फाउंडेशन इंडिया की इंडिया कंट्री हेड निवेदिता दासगुप्ता ने कहा,  “मिरेकल फाउंडेशन इंडिया में हम वह सब करने में विश्वास करते हैं जो अनाथ और कमजोर बच्चों को सशक्त बनाने और उनकी वास्तविक क्षमता का एहसास करने की सुविधा प्रदान कर सकने के लिए आवश्यक है। इन वर्षों में हम भारत में सीसीआई (चाइल्ड केयर संस्थानों) की देखभाल के मानकों में सुधार की दिशा में काम कर रहे हैं और इससे बेहतर तरीका क्या हो सकता है कि हम इस बदलाव का नेतृत्व इन बच्चों को दें? इसे ध्यान में रखते हुए हमने देश में चाइल्ड केयर सिस्टम में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए जागरूकता बढ़ाने पर ध्यान देने के साथ ही चिल्ड्रन्स यूथ एम्बेसडर प्रोग्राम बनाया है। इसके माध्यम से हम अपने यूथ एंबेसेडर्स के साथ इस आंदोलन को उद्देश्य तक पहुंचाने के लिए सभी हितधारकों और चेंज-मेकर्स तक पहुँच सकते हैं और लाखों अन्य बच्चों की आवाज़ बन सकते हैं जिनका अनुभव एक-सा है।”

Check Also

‘एकता मंच’ व डिपार्टमेंट ऑफ़ कॉ-ऑपरेशन महाराष्ट्र स्टेट ने किया ‘सोसाइटी संबधी फ्री इंटेरेक्टिव सेमिनार’

 मुंबई। सामाजिक संस्था,’एकता मंच’ व ‘डिपार्टमेंट ऑफ़ कॉ-ऑपरेशन महाराष्ट्र स्टेट’ द्वारा रविवार 8 दिसंबर 2019 ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *