धर्म-अध्यात्म

श्रीरामनवमी उत्सव : श्रीरामजीकी विशेषताएं

 त्रेतायुग में श्रीविष्णु के सातवें अवतार श्रीरामजीने पुष्य नक्षत्रपर, मध्याह्न कालमें अयोध्यामें जन्म लिया । वह दिन था, चैत्र शुक्ल नवमी । तबसे श्रीरामजीके जन्मप्रीत्यर्थ श्रीरामनवमी मनाई जाती है । सामान्यतः श्रीरामनवमीका उत्सव विभिन्न स्थानोंपर विविध प्रकारसे मनाया जाता है । कहीं सार्वजनिक रूपमें, कहीं व्यक्तिगत स्तरपर, तो कहीं पारिवारिक …

Read More »

सरकार्यवाह का रामनवमी पर संदेश, समाज सेवा का संकल्प निभाएं

नागपुर । भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव रामनवमी के अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश जोशी (भैयाजी जोशी) ने अपने संदेश में कहा है कि वर्तमान परिस्थिति में 10 हजार गांवों में एक लाख स्वयंसेवक सेवा कार्य कर रहे हैं, जिसके माध्यम से लगभग 10 लाख परिवारों तक सहायता …

Read More »

चैत्र प्रतिपदा को वर्षारंभ दिन अर्थात नववर्ष क्यों मनाए ?

वर्षारंभ का दिन अर्थात नववर्ष दिन । इसे कुछ अन्य नामोंसे भी जाना जाता है । जैसे कि, संवत्सरारंभ, विक्रम संवत् वर्षारंभ, वर्षप्रतिपदा, युगादि, गुडीपडवा इत्यादि । इसे मनाने के अनेक कारण हैं । सनातन संस्था द्वारा इस लेख में गुडीपडवा को ही नववर्ष  मनाए यह  हम देखेंगे। अ. वर्षारंभ मनाने …

Read More »

कृष्ण में अपना स्वार्थ मान लें तो उनसे जुड़ाव भी हो जाएगा : नीलमणि कृपालु दास जी

 मुंबई। भायंदर के जेसल पार्क चौपाटी पर आयोजित विलक्षण आध्यात्मिक प्रवचन में जगदगुरु श्री कृपालु जी महराज के 19 वर्षीय पौत्र श्री नीलमणि कृपालुदास जी ने अलौकिक दिव्य व दार्शनिक प्रवचन देते हुए कहा कि शरणागति यानी कुछ ना करने की अवस्था लाने के लिए बहुत कुछ सीखना पड़ेगा। एक …

Read More »

उप्र में करीब 400 तीर्थ स्थल व स्मारक बनेंगे पर्यटन केंद्र

 लखनऊ।  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सूबे के करीब 400 महत्वपूर्ण स्थलों को पर्यटन केंद्र के रुप में विकसित करेगी। इसके लिए सरकार ने मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्द्धन योजना बनाई है, जिसके तहत प्रदेश के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम एक पर्यटन केंद्र विकसित किया जाएगा। विधायकों से प्रस्ताव …

Read More »

भावना और शरणागति अच्छी होने से प्रभु की कृपा प्राप्त हो जाती है : नीलमणि कृपालु दास जी

 मुंबई। भायंदर के जेसल पार्क चौपाटी पर आयोजित विलक्षण आध्यात्मिक प्रवचन में जगत गुरु श्री कृपालु जी महराज के 19 वर्षीय पौत्र नीलमणि कृपालु दास जी महाराज ने अलौकिक दिव्य व दार्शनिक प्रवचन देते कहा कि रामजी को भी सब कहां जान पाए, लेकिन जब उनकी लीला को महात्माओं ने …

Read More »

महा अश्वमेध यज्ञ की तैयारियां शुरू, 3 करोड़ भक्तों की होगी उपस्थिति

त्रेतायुग में राजा दशरथ द्वारा अपनी प्रजा की सुख और समृद्धि के लिये किया गया अश्वमेध यज्ञ का उल्लेख रामायण में मिलता है। वहीं जब प्रभु श्रीराम ने जब फिर से अयोध्या का राज-काज संभाला था तब उन्होंने अश्वमेध यज्ञ का अनुष्ठान किया था। कलयुग के भारतवर्ष में एक बार …

Read More »

माधुर्य भाव के साथ अनन्य भक्ति से ही भगवत प्राप्ति हो सकती है : नीलमणि कृपालु दास जी

 मुंबई। पंचम मूल जगदगुरु श्री कृपालु जी महराज के 19 वर्षीय पौत्र श्री नीलमणि कृपालु दास जी महराज का अलौकिक दिव्य व दार्शनिक प्रवचन भायंदर के जेसल पार्क चौपाटी पर दिनाँक 21.02.2020 से 08.03.2020 तक प्रतिदिन शाम को 7.30 बजे से रात्रि 9.30 बजे तक चल रहा है जिसमें नीलमणि …

Read More »

बिना भक्ति के कर्म और ज्ञान मार्ग निंदनीय है

 मुंबई। पंचम मूल जगदगुरु श्री कृपालु जी महराज के 19 वर्षीय पौत्र श्री नीलमणि कृपालु दास जी महराज का अलौकिक दिव्य व दार्शनिक प्रवचन भायंदर के जेसल पार्क चौपाटी पर चल रहा है जिसमें नीलमणि कृपालु दास जी वेदों उपनिषदों गीता भागवत महापुराण और रामायण के प्रमाण के द्वारा विभिन्न …

Read More »

देश में फैले निराशावादी वातावरण को योग ही बना सकता है बेहतर : श्रीश्री रविशंकर

 ऋषिकेश। आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर ने कहा कि उत्तराखंड योग की भूमि है जहां प्रत्येक योगी अपना घर बना सकता है। आज पूरे विश्व में निराशावादी वातावरण बन रहा है जिसे योग ही बेहतर बना सकता है। यह बात सोमवार को अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के दूसरे दिन मुनीकी रेती गंगा …

Read More »