Thursday , December 12 2019
Home / धर्म-अध्यात्म

धर्म-अध्यात्म

सुखों के धाम हैं श्रीराम : रुचि शुक्ला

जो काम बिगड़ रहा हो, उसमें भगवान को शामिल कर लें, मुश्किल आसान हो जाएगी   मुंबई। जन सहयोग संस्था द्वारा मीरा रोड के सरदार वल्लभ भाई पटेल मैदान सेक्टर 10, शांति नगर में आयोजित श्री राम कथा सत्संग महोत्सव में मानस विदुषी रुचि शुक्ला ने मानस कथा सुनाते कहा ...

Read More »

दत्तजयंती के उपलक्ष्य में सनातन संस्था की ओर से 126 स्थानों पर ग्रंथ प्रदर्शनी

 मुंबई। दत्तगुरु के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी देनेवाली अनमोल ग्रंथसंपदा बुधवार, 11 दिसंबर को दत्त जयंती के अवसर पर सनातन संस्था की ओर से मुंबई, नवी मुंबई में 50, थाने 39, रायगड 37 इस तरह 126 स्थानों पर ग्रंथप्रदर्शनी का आयोजन कर विशेष रियायत दर पर उपलब्ध कराया जाएगा। इस ग्रंथप्रदर्शनी में दत्तविषयक ग्रंथ, अध्यात्म, संस्कार, आयुर्वेद, आपत्कालीन साहाय्य, प्रथमोपचार, ...

Read More »

शांतिपूर्ण तथा उद्देश्यपूर्ण जीवन के लिए अध्यात्म को समझना अत्यंत महत्वपूर्णः उपराष्ट्रपति

योग और ध्यान आवश्यक मानसिक स्वास्थ्य विज्ञानः इससे जीवन के वास्तविक उद्देश्यों को प्राप्त करने में मदद मिलती हैः श्री श्री उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि शांतिपूर्ण और उद्देश्यपूर्ण जीवन जीने के लिए अध्यात्म को समझना अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने भारत की महान सांस्कृतिक विरासतों, मूल्यों तथा भारतीय ...

Read More »

रिश्तों को कैंची नहीं सुई-धागा बनकर जिएं

जोधपुर। चंद्रप्रभ महाराज ने कहा कि रिश्ता वो नहीं होता जो दुनिया को दिखाया जाता है। रिश्ता वह होता है जिसे दिल से निभाया जाता है। अपना कहने से कोई अपना नहीं होता, अपना वो होता है जिसे दिल से अपनाया जाता है। रिश्तों को बनाने में नहीं, अपितु निभाने ...

Read More »

स्वाध्याय बढ़ेगा, अहम् गलेगा, विनम्रता का भाव बढ़ेगा: आचार्य सुदर्शन लाल जी

   जीवन में स्वाध्याय का कितना महत्व, इससे आप अपरिचित नहीं हैं। हमने मात्र आधा घंटा कोई पुस्तक पढ़ ली या इधर-उधर कुछ भी पढ़ लिया और सोच लिया कि ‘स्वाध्याय’ हो गया। बंधुओं!ऐसा नहीं है। पुस्तक पढ़ना तो अध्ययन है, उसे जीवन में उतारना स्वाध्याय है। कहीं हमने अध्ययन ...

Read More »

दिव्य भाव में गुरु भक्तों में मौजूद रहते हैं : त्रयंबकेश्वर चैतन्य जी महाराज

अश्वनी राय  संत-सम्मेलन में हुई यज्ञ सम्राट वीरव्रती श्री प्रबल जी महाराज की श्रद्धांजलि सभा यदि शिष्यतव भावना रहेगी, तो दिव्य लोक से भी गुरुदेव की कृपा प्राप्त हो जाएगी : डॉ. गुणप्रकाश चैतन्यजी महाराज जब तक शास्त्र रहेंगे, मर्यादाएं भी रहेंगी   मुुुंबई।  कांदिवली पूर्व स्थित भूमि वैली खेल मैदान, ठाकुर ...

Read More »

वेद रूपी कल्पवृक्ष का पका हुआ फल है श्रीमद् भागवत महापुराण : ऋषभदेव जी

अश्वनी राय   मुंबई। अखिल भारतीय धर्म संघ व स्वामी करपात्री फाउंडेशन की ओर से वीतराग शिरोमणि त्रयंबकेश्वर चैतन्य जी महाराज के सानिध्य एवं डॉ. गुण प्रकाश चैतन्य जी महाराज के दिशानिर्देशन में कांदिवली पूर्व के भूमि वेली खेल मैदान ठाकुर विलेज में 100 कुंडीय श्री महालक्ष्मी महायज्ञ एवं श्रीमद् भागवत ...

Read More »

खाली दिमाग शैतान का घर, पर खुला दिमाग भगवान का घर- ललितप्रभजी

 जोधपुर।  ललितप्रभ महाराज ने कहा कि बीते हुए कल की चर्चा मत कीजिए, आने वाले कल की चिंता मत कीजिए। सुखी रहना चाहते हैं तो वर्तमान में चर्या कीजिए। दूसरे की भूलें देखने के लिए दूरबीन का उपयोग करने की बज़ाय अपनी भूलों को देखने के लिए दर्पण का उपयोग कीजिए। ...

Read More »

संघ- सेवा, तीर्थ- सेवा है : आचार्य सुदर्शन लाल जी म. सा.

बंधुओं! हमारे लिए वर्तमान बहुत महत्वपूर्ण है। मानव की विचक्षणता इसी में है कि वह अतीत की चिंता और भविष्य की कल्पनाओं को छोड़कर वर्तमान में जिए। हम सोचें कि वर्तमान में हम क्या कर रहे हैं? जिन परिस्थितियों में आज तक जी रहे हैं उनमें महत्वपूर्ण कार्य कौन सा ...

Read More »

आज प्रकाश पर्व के रूप में मनाई जा रही है गुरु नानक देव जी की जयंती

 आज पूरे देश में श्रद्धा और उल्लास के साथ सिखों के पहले गुरु और सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनायी जा रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पंजाब के कपूरथला जिले में सुलतानपुर लोधी में आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेंगे। गुरु ...

Read More »