Wednesday , January 29 2020
Home / धर्म-अध्यात्म

धर्म-अध्यात्म

प्रजातंत्र के प्रति निष्ठा का प्रतीक गणतंत्र दिवस

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री गणतंत्र दिवस भारत की संप्रभुता, शौर्य और प्रजातंत्र के प्रति निष्ठा का प्रतीक है। इस दिन हमारा संविधान लागू हुआ। संविधान सभा का विधिवत गठन 9 दिसंबर 1946 में हुआ था। दो वर्ष, 11 महीने और 18 दिनों में संविधान का निर्माण हुआ। मूल संविधान में अनेक ...

Read More »

प्रयागराज में मौनी अमावस्या पर उमड़े लाखों श्रद्धालु

 प्रयागराज। माघ मेला के तृतीय स्नान मौनी अमावस्या पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने संगम और गंगा मैया में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। शुक्रवार की भोर में ही संगम में डुबकी लगाने वाले श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा। गांव, देहात, शहर, कस्बा से आने वाले इस हुजूम के ...

Read More »

वाराणसी : मौनी अमावस्या पर लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी

 वाराणसी। माघ मास के कृष्ण पक्ष की मौनी अमावस्या पर शुक्रवार को बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में लाखों श्रद्धालुओं ने दुर्लभ संयोग में पवित्र गंगा नदी में मौन रहकर पुण्य की डुबकी लगाई। गंगाघाटों पर दान-पुण्य के बाद काशी पुराधिपति बाबा विश्वनाथ और मां अन्नपूर्णा के दर्शन किए। इस ...

Read More »

मौनी अमावस्या आज: मौन स्नान से होती है मोक्ष की प्राप्ति

  धर्म प्रधान भारत में यूं तो हर माह कोई न कोई विशिष्ट पर्व और त्योहार होते ही रहता है। इन्हीं विशेष अवसरों की एक तिथि है मौनी अमावस्या। इस वर्ष मौनी अमावस्या 24 जनवरी को मनाई जा रही है। मौनी अमावस्या का शुभ मुहूर्त अगली सुबह 2 बजकर 17 ...

Read More »

धर्म व्यक्ति को जोड़ता है, तोड़ता नहीं : मोहन भागवत

 मुंबई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत ने कहा है कि धर्म व्यक्ति को जोड़ता है, तोड़ता नहीं। धर्म, पुरुषार्थ की पूर्ति करते हुए अनुशासन के मार्ग से होते हुए लोगों को मोक्ष की ओर ले जाता है। सृष्टि को परमात्मा से जोड़ने वाला महत्वपूर्ण धागा धर्म ...

Read More »

अध्यात्म और धर्म-दर्शन देश को एकजुट करने का सशक्त माध्यम : डॉ. कृष्ण गोपाल

 नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने देश की जनता को विभाजनकारी शक्तियों से सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा कि अध्यात्म और धर्म-दर्शन देश को एकजुट करने का एक सशक्त माध्यम है। डॉ. गोपाल शनिवार को एनडीएमसी के सभागार में स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी ...

Read More »

दान का पर्व मकर संक्रांति

“तिळ गूळ घ्या आणि गोड़ गोड़ बोला”  पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तब मकर संक्रान्ति का पर्व मनाया जाता है। वर्तमान शताब्दी में यह त्योहार जनवरी माह के चौदहवें या पन्द्रहवें दिन ही पड़ता है , इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ मकर राशि ...

Read More »

मकर संक्रांति का महत्त्व एवं शास्त्र

 १. मकर संक्रांति की तिथि इस दिन सूर्य का मकर राशि में संक्रमण होता है । सूर्य भ्रमण के कारण होनेवाले अंतर की पूर्ति करने हेतु कभी-कभी मकर संक्रांति का दिन एक दिन आगे बढ़ जाता है । इस वर्ष मकर संक्रांति  १५ जनवरी को है । २. मकर संक्रांति का ...

Read More »

भौतिक प्रदूषण के कारण भारतीय नदियों के कारण मिलनेवाला आध्यात्मिक लाभ न्यून होता है

   7 एवं 8 जनवरी को कोलकाता में संपन्न Society, Religion and Environment अंतरराष्ट्रीय परिषद में महर्षि अध्यात्म विश्‍वविद्यालय के शंभु गवारे ने कहा कि विदेशी नदियों की तुलना में भारतीय नदियों की उच्च सात्त्विकता ऋषि एवं भक्तों की साधना के कारण भारत की उच्च सात्त्विकता का प्रतीक है । भारतीय नदियां यदि इतनी प्रदूषित न होतीं, तो इन ...

Read More »

क्रोध धर्म से दूर कर देता है

मुंबई। भायंदर पूर्व स्थित ओस्तवाल बगीचे में श्रीमद् भागवत कथा सुनाते आचार्य वल्लभ महाराज ने कहा कि भगवान शंकर द्वारा विष को गले में रखने का मर्म रखने का मर्म यही है कि कड़वी बातों को हृदय में ना रखें । अपने को इतना शीतल बना लें कि कोई कुछ ...

Read More »