Home / मनोरंजन / समीक्षा

समीक्षा

आज के रिश्ते को बुनियादी तौर पर मजबूत करती है ‘लव शॉट्स’

 सेक्स के विषय में जब भी चर्चा होती है लोग इस विषय में बात करने से बचना चाहते है। सेक्स शब्द सुनते ही लोगों को शर्मिंदगी का अहसास होता है। सरकार भी सेक्स के प्रति जागरूकता फैलाने और उससे होने वाली बीमारियों और दुष्प्रभाव से बचने के लिए पाठ्यक्रम में ...

Read More »

प्यार और बलिदान की कहानी है ‘जंक्शन वाराणसी’

ढाई स्टार   उत्तर प्रदेश का शहर बनारस केवल भगवान शिव जी की महिमा के लिए प्रसिद्ध तो है ही साथ ही साथ संस्कारों का शहर भी है। पारिवारिक प्रेम और सौहाद्र यहाँ की मिट्टी में समाहित है, पर सभी व्यक्ति भद्र और कोमल हृदय के धनी हो यह भी सम्भव ...

Read More »

आधुनिक सोच के साथ रूढ़िवादी परंपरा का टकराव – ‘लाइफ में टाइम नहीं है किसी को’

तीन स्टार आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर व्यक्ति अपना और अपने परिवार के लिए समय नहीं दे पाता। अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए वह अपने काम में ही व्यस्त रहता है। आज की नई पीढ़ी का परिवार के लिए समय ना दे पाना उनके माता ...

Read More »

डर के साथ दर्द का रिश्ता ‘घोस्ट’

साढ़े तीन स्टार  हॉरर फिल्मों में रोमांटिक स्टोरी को बड़े ही खूबसूरत अंदाज़ के साथ पेश करने में निर्देशक विक्रम भट्ट की सानी नहीं है। उनकी हॉरर लव स्टोरी फिल्मों की श्रृंखला में नया नाम ‘घोस्ट’ का जुड़ गया है। फ़िल्म में लंदन में अप्रवासी भारतीय करण खन्ना (शिवम भार्गव) ...

Read More »

बिहार की दशा का बेहतरीन चित्रण – ‘किरकेट’

4 स्टार  भारत का राष्ट्रीय खेल भले ही हॉकी है पर करोड़ों भारतीयों का पसंदीदा खेल क्रिकेट ही है। आज भी यदि क्रिकेट का रोमांचक मैच चल रहा हो, तो लोग ऑफिस से छुट्टी ले लेते हैं। क्रिकेट प्रेमी हर मुसीबत झेल लेते हैं, पर क्रिकेट देखना नहीं छोड़ते । ...

Read More »

दोस्ती के नए रूप के साथ एक संदेश लेकर आया ‘यारम’

स्टार – 3  निर्माता विजय मूलचंदानी और निर्देशक ओवैस खान की फ़िल्म ‘यारम’ दो ऐसे हिन्दू मुस्लिम दोस्तों की कहानी है जिनकी दोस्ती के बीच मजहब रास्ता नहीं रोकता बल्कि अपने दोस्त की खुशी के लिए मजहब भी बदलने को तैयार हैं। दोस्त के लिए त्याग और दोस्ती निभाने की ...

Read More »

ईमानदार पुलिस की छवि पेश करती है फ़िल्म ‘चेस नो मर्सी टू क्राइम’

स्टार – 3 आज के माहौल में लूट, अपहरण, चोरी, रेप जैसी आपराधिक घटनाएं लगातार बढ़ रही है और हमारी पुलिस इन्हें ढूंढ पाने में सदा कामयाब नहीं हो पाती। कभी राजनीतिक दबाव, कभी संसाधनों की कमी, तो कभी चिंगारी उठने से पहले केस को दबा दिया जाता है। अपराधी ...

Read More »

वन डे जस्टिस डिलिवर्ड : 3 स्टार

कुछ फिल्में मनोरंजन के परे होती है जो सामाजिक अव्यवस्था की ओर इशारा करती है और नागरिकों को जागरूक करने की कोशिश करती है. अशोक नंदा निर्देशित फिल्म ‘वन डे जस्टिस डिलिवर्ड’ में दिखाया गया है कि गुनहगारों का अंत ही समाज को अपराधमुक्त कर सकता है. इस फ़िल्म के ...

Read More »

प्रेम रंग में सराबोर  ‘मलाल’

स्टार :3 संजय लीला भंसाली की प्रोडक्शन में बनी निर्देशक मंगेश हडवले की फिल्म ‘मलाल’ को देखने के बाद वाकई में मन में एक दुख उत्पन्न हो जाता है, फ़िल्म का अंतिम दृश्य मन के अंतरिम तारों को छेड़ जाता है. फ़िल्म की कहानी चाल में रहनेवाले एक टपोरी मराठी ...

Read More »

आधुनिकता के आडम्बर में छिपी विक्षिप्त मानसिकता को दर्शाती है ‘ रेस्क्यू ‘

स्टार- 2 रेस्क्यू का हिंदी अर्थ होता है बचाव लेकिन फ़िल्म देखने के बाद दर्शक सोचने पर मजबूर हो जाता है क्योंकि फ़िल्म में जो मुख्य पात्र बंधक होता है वह क़ैदमुक्त होने के बाद भी अपना बचाव नहीं कर पाता। फ़िल्म का विषय गहन चिंतन योग्य है। निर्देशक ने ...

Read More »