Home / Headline / सरलता के बिना साधना नहीं : आचार्य सुदर्शन लाल जी

सरलता के बिना साधना नहीं : आचार्य सुदर्शन लाल जी

अद्भुत चातुर्मास मुंबई
श्री प्राज्ञ जैन संघ मुंबई द्वारा वृंदावन वाटिका, बोरीवली पश्चिम में आयोजित चातुर्मास में व्याख्यान देते आचार्य सुदर्शन लाल जी ने फरमाया कि साधना करते ऋजुभूत यानी शांत – सरल होने पर ही धर्म टिक सकेगा। जब कोई व्यक्ति खेती करता है, तो पहले दो कार्य करता है। पहला, बीज बोने से पहले जमीन को कोमल बनाता है और दूसरा, फसल के लिए नुकसानदायक तत्वों को बाहर निकालता है। क्योंकि बिना ये किए बीच फलित नहीं हो पाएगा। इसी प्रकार साधना से पहले की भूमिका भी सही होनी चाहिए। इसके लिए आपके भीतर में सरलता तो होनी ही चाहिए, साथ में नकारात्मकता रूपी बाधक भावों से मुक्ति भी जरूरी है। सरलता के लिए अनुकूलता और प्रतिकूलता की प्रतिक्रिया से मुक्त होना पड़ेगा।

आप खुद अपने हिसाब से नहीं हो सकते, तो दूसरे कैसे आपके अनुकूल हो सकते हैं ? दूसरों को बदलने में आप खुद बदल जाएंगे। लेकिन खुद को बदल लिए, तो कहीं भी एडजस्ट हो जाएंगे। दूसरों को बदलने की सोच अशांति पैदा करती है। जबकि खुद को बदलने वाला व्यक्ति हर जगह सफलता और सुकून को प्राप्त करता है। इसलिए अपने आप को बदलने की साधना करें।

गुरुदेव ने फरमाया कि सरलता के बिना कोई व्यक्ति साधना के लायक नहीं बन सकता। वैसे भी यदि भीतर में सरलता नहीं, तो साधना किस काम की ? स्वभाव में परिवर्तन साधना की पहली शर्त है। बिना इसके ऊंची से ऊंची क्रिया भले हो जाए, लेकिन साधना नहीं हो सकती। स्वभाव हमेशा अनुकूलता चाहता है, लेकिन ऐसा होता नहीं। सोचो, अनंत शक्ति वाले तीर्थंकर महावीर के सामने भी प्रतिकूलता आई। प्रतिकूलता को अपनी परीक्षा समझें। प्रशंसा से मुग्ध और आलोचना से क्रोध के भाव ना आए, जीवन में इसकी सावधानी होनी चाहिए। संचालन करते चातुर्मास परामर्श समिति के सदस्य लक्ष्मी लाल बडोला में का कहा कि गुरु के शरण में ही स्वभाव को सरल बनाने और जीवन में शांति के लिए नकारात्मकता छोड़ने का मार्ग मिलेगा। क्योंकि यहां सात्विक तरंगे निकल रही हैं। हम सब इसका ज्यादा से ज्यादा इसका लाभ उठाने की भावना रखें। आज के स्वामी वात्सल्य का लाभ हेमराज गोखरू परिवार ने लिया ।

Check Also

कॉर्पोरेट कर में लगभग 10% की कटौती का स्वागत प्रधानमंत्री सहित उद्योग और व्‍यापार जगत ने भी किया

देश के वित्त मंत्रालय द्वारा कॉर्पोरेट कर में लगभग दस प्रतिशत की कटौती का स्वागत प्रधानमंत्री नरेंद्र ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *