Home / Headline / जगन्नाथ रथ यात्रा का शुभारंभ, माननीयों ने दी बधाई

जगन्नाथ रथ यात्रा का शुभारंभ, माननीयों ने दी बधाई

आज से ओडिशा के पुरी में विश्वप्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा का शुभारंभ हुआ। यह रथ यात्रा 9 दिनों तक चलेगी, जिसमें भगवान जगन्नाथ अपने भाई बलराम और बहन सुभद्रा के साथ जगन्नाथ मंदिर से निकलकर गुंडीचा मंदिर जाएंगे। वहां सात दिनों तक विश्राम के बाद वे वापस अपने धाम जगन्नाथ पुरी में लौट आएंगे। इस यात्रा में तीन विशाल रथ होते हैं, जिसे भगवान के भक्त खींचते हैं। रथयात्रा में शामिल होने के लिए लाखों की संख्या में श्रद्धालु पुरी पहुंचे हैं। श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम किये गये हैं।

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई सहित अन्य शहरों में भी रथयात्रा का आयोजन किया गया, जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने सहभागिता की। भगवान के दर्शन करने के लिए सड़कों के दोनों तरफ लोगों की भीड़ उमड़ती दिखी।

बांग्लादेश के कई हिस्सों में भी जगन्नाथ यात्रा निकाली जा रही है। वहां भी श्रद्धालुओं में जबरदस्त उत्साह है। बांग्लादेश की राजधानी ढाका से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित धमरई में भी लोगों का हुजुम उमड़ रहा है जहां महादेव का मंदिर 400 साल पुराना है।

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि रथ यात्रा के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएँ। मैं कामना करता हूँ कि भगवान जगन्नाथ के आशीर्वाद से सभी के जीवन में सुख, शांति और समृद्धि आए।

वहीं उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने रथयात्रा के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि समाज के हर वर्ग,हर समुदाय के लोग इस उत्सव में श्रद्धापूर्वक भाग लेते हैं। यह  प्रकृति और संस्कृति के उल्लास अवसर है। भगवान जगन्नाथ की भांति ही, रथयात्रा भी हमारी सांस्कृतिक चेतना का अभिन्न अंग है।

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देशवासियों को शुभकामनाएं दी है। अपने ट्वीट संदेश में उन्होंने कहा कि…

रथ यात्रा के अवसर पर सभी को शुभकामनाएं। हम भगवान जगन्नाथ से अच्छे स्वास्थ्य, खुशी भरे जीवन और समृद्धि के लिए उनके आशीर्वाद की कामना करते हैं।

Check Also

बिहार में बाढ़ का कहर जारी

केन्‍द्रीय जल आयोग ने कहा है कि भारी वर्षा के कारण बिहार के बागमती, गंडक, ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *