Home / Headline / एमजी मोटर्स ने भारत की पहली इंटरनेट कार ‘हेक्टर’ का अनावरण किया

एमजी मोटर्स ने भारत की पहली इंटरनेट कार ‘हेक्टर’ का अनावरण किया

 19 एक्सक्लुसिव फीचर्स के साथ हेक्टर भारत की पहली 48वी हाइब्रिड एसयूवी

मुंबई। एमजी (मॉरिस गैराज) ने आज भारत की पहली इंटरनेट कार ‘हेक्टर’ का अनावरण किया। इसमें 50 से ज्यादा कनेक्टेड फीचर्स हैं। भारत की पहली 48वी हाइब्रिड एसयूवी के तौर पर एमजी हेक्टर 19 एक्सक्लुसिव फीचर्स के साथ आएगी। वह इस सेग्मेंट में नए मापदंड स्थापित करेगी। इसके अंदर इंटरनेट तो है ही, हेक्टर में मौजूद अगली पीढ़ी की आईस्मार्ट टेक्नोलॉजी सेग्मेंट-बेस्ट 10.4 इंच टचस्क्रीन के साथ सुरक्षित, कनेक्टेड और मजेदार अनुभव देने का वादा करती है। हेक्टर में माइल्ड-हाइब्रिड आर्किटेक्चर के तौर पर एक सुविधाजनक फीचर है, जो 48-वोल्ट लिथियम-आयन बैटरी के जरिये संचालित होता है। ईंधन-क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ उत्सर्जन कम करने की दिशा में यूनिट में एनर्जी स्टोर होती है और यह 20 एनएम तक अतिरिक्त टॉर्क रेजिस्टेंस देता है।

एमजी मोटर इंडिया के प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव चाबा ने कहा, “भारत की पहली इंटरनेट कार एमजी हेक्टर को हाई-लेवल के लोकलाइजेशन के साथ बनाया गया है। अंदर से बाहर तक यह फीचर्स के साथ पॉवर-पैक्ड है। एमजी की यह भारत में पहली पेशकश है, इस वजह से हेक्टर हमारी प्रतिबद्धताओं को प्रदर्शित करती है जो भारतीय ग्राहकों को बेस्ट कार उपलब्ध कराने की है। एक ऐसी कार जिससे उन्हें प्यार हो जाएगा और वह उसे सराहेंगे।”

एमजी के सिग्नेचर डिजाइन, जिसमें स्टार-ग्लाइड ग्रिल शामिल है, के साथ एमजी हेक्टर ने भारत में ऑक्टेगोनल बैज के लिए नए युग की शुरुआत की है। इसकी कैरेक्टर लाइन को जियोमेट्रिक शेप्स, होरिज़ोंटल फ्लो और सिमिट्री के साथ परिभाषित किया गया है। हेक्टर के इंटीरियर के कई सेक्शन मॉर्डन डांस फॉर्म्स से प्रेरित हैं। भारतीय ग्राहकों के लिए डिजाइन और डेवलप की गई हेक्टर को कठिन सड़क की परिस्थितियों के अनुकूल बनाया गया है और भारत में एक मिलियन किलोमीटर तक चलाकर टेस्ट करने के बाद ही कंपनी के गुजरात स्थित हलोल प्लांट पर इसी महीने की शुरुआत में इसका उत्पादन शुरू किया गया है।

एमजी मोटर इंडिया अगले कुछ हफ्तों में 50 शहरों में फैले अपने 120 आउटलेट्स के विस्तारित नेटवर्क के जरिये हेक्टर का शिपमेंट शुरू करेगी। कार निर्माता का लक्ष्य इस साल सितंबर तक अपने नेटवर्क को बढ़ाकर 175 आउटलेट्स करना है। हेक्टर के लिए प्री-ऑर्डर अगले महीने से शुरू होंगे। इसकी तारीखें अगले कुछ हफ्तों में घोषित होंगी। एमजी मोटर इंडिया ने अब तक हलोल के मैन्यूफेक्चरिंग प्लांट और हेक्टर को लॉन्च करने पर 2,200 करोड़ रुपए निवेश किए हैं। कंपनी ने इस प्लांट में 18 महीने की छोटी सी अवधि में नई असेंबली लाइन, प्रेस शॉप, बॉडी शॉप, पार्ट्स डिस्ट्रिब्यूशन सेंटर, टेस्टिंग ट्रैक और अत्याधुनिक ट्रेनिंग फेसिलिटी शुरू की है। एमजी का हलोल प्लांट की इस समय 80,000 यूनिट्स सालाना उत्पादन की क्षमता है। कार निर्माता ने अपने प्लांट में अपने वाहनों के आक्रामक स्थानीयकरण के लिए कैप्टिव वेंडर पार्क स्थापित किया है।

हेक्टर पेट्रोल और डीजल इंजिन, दोनों में अगले महीने के अपने लॉन्च के बाद से उपलब्ध हो जाएगी। पेट्रोल वर्जन 1.5 लीटर टर्बो-चार्ज्ड पेट्रोल इंजिन से पावर होगा, जो 250 एनएम के पीक टॉर्क पर 143 पीएस पॉवर डेवलप करेगा और यह मैनुअल और ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन दोनों को हासिल करेगा। इसका 2.0 लीटर डीजल इंजिन 350 एनएम के पीक टॉर्क पर 170 पीएस डिलीवर करेगा, जो फ्यूल इफिशियंसी में बेस्ट-इन-क्लास है।

48 वोल्ट माइल्ड हाइब्रिड

इस सेग्मेंट में बेस्ट-इन-क्लास फ्यूल इफिशियंसी देने के लिए चुनिंदा पेट्रोल मैनुअल ट्रिम्स आएंगे, जो विश्व स्तर पर प्रशंसित 48 वोल्ट माइल्ड हाइब्रिड तकनीक के साथ आएंगे। हाइब्रिड वेरिएंट 48 वोल्ट की लिथियम-आयन बैटरी से संचालित होगा, जो भारतीय मास मार्केट सेग्मेंट में मौजूदा ऑफरिंग की तुलना से चार गुना अधिक सक्षम है। तीन प्रमुख कार्यों – इंजन ऑटो स्टार्ट स्टॉप, रीजेनरेटिव ब्रेकिंग और ई-बूस्ट – के साथ यह संयोजन 12% तक उत्सर्जन कम करते हुए एक बेहतरीन ड्राइविंग अनुभव प्रदान करता है।

6-स्पीड डीसीटी

डीसीटी एक हाइली सोफिस्टिकेटेड और रिफाइंड ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन है जो बिजली और ईंधन इकोनॉमी के बीच सही संतुलन बनाता है। अन्य वेरिएंट की तरह, डीसीटी का भी विश्व स्तर पर चरम जलवायु परिस्थितियों में 2.6 मिलियन किलोमीटर से अधिक का बड़े पैमाने पर परीक्षण किया गया है।

एमजी मोटर इंडिया भविष्य के लिए तैयार एक संगठन है जो युवा और स्मार्ट कार्य संस्कृति व विविधता के मामले में इंडस्ट्री में नए मानदंड स्थापित कर रहा है। कंपनी के 1,200 कर्मचारियों के कुल कार्यबल में महिला कर्मचारियों का हिस्सा 32 प्रतिशत है और भविष्य में कंपनी की योजना इसे और बढ़ाने की है। चार प्रमुख संगठनात्मक स्तंभों पर ध्यान दिया जा रहा है- इनोवेशन, सिक्योरिटी, एक्सपीरियंस और विविधता; कार निर्माता ने भविष्य के संचालन के लिए एक मजबूत आधार बनाया है। कंपनी ने हाल ही में भारत में लंबी अवधि तक रहने की प्रतिबद्धता के हिस्से के तौर पर गुड़गांव में स्थित अपने ब्रांड-न्यू कॉर्पोरेट कार्यालय को बनाने पर 150 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

बता दें कि 1924 में यूके में स्थापित मॉरिस गैरेज के वाहन अपनी स्पोर्ट्स कारों, रोडस्टर्स और कैब्रियोलेट सीरीज की वजह से पूरी दुनिया में मशहूर थे। एमजी के वाहन ब्रिटिश प्रधानमंत्री, राज परिवार समेत कई सेलिब्रिटीज की पहली पसंद हुआ करते थे। इसकी वजह से उसकी स्टाइलिंग, एलिगेंस और स्पिरिटेड परफॉर्मंस। एमजी कार क्लब 1930 में यूके के एबिंगडन में बनाया गया था जिसमें एक मिलियन से ज्यादा वफादार प्रशंसक हैं। यह इसे किसी भी एक कार ब्रांड का दुनिया का सबसे बड़ा क्लब बनाता है। एमजी ने पिछले 95 साल में आधुनिक, फ्चूयरिस्टिक और इनोवेटिव ब्रांड के तौर पर पहचान बनाई है। भारतीय बाजार में जल्द ही अपने ब्रांड के वाहन उपलब्ध कराने की योजना के साथ एमजी मोटर इंडिया ने गुजरात के हलोल स्थित कार मैन्यूफेक्चरिंग प्लांट पर अपनी विनिर्माण गतिविधियां शुरू कर दी हैं। अत्याधुनिक एमजी कारों में से पहली- “हेक्टर” को जल्द ही भारतीय ग्राहकों को उपलब्ध कराया जाएगा।

Check Also

सीबीआई ने किया पी चिदंबरम को गिरफ्तार

सीबीआई ने पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया है  पहले पी चिदंबरम को उनके दिल्ली ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *