Home / Headline / बे-मौसम बारिश और आंधी से 30 की मौत

बे-मौसम बारिश और आंधी से 30 की मौत

मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख, घायलों को 50-50हजार रुपये अनुग्रह राशि देने की मंजूरी

धूल भरी आंधी, बेमौसम बारिश और बिजली गिरने से राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात, मणिपुर सहित देख के अन्य भागों में जान-माल का काफी नुकसान होने की खबर है। मौसम की इस अचानक मार से 30 लोगों की मौत हो गई है। जबकि कइयों के घायल होने की खबर है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने बेमौसम वर्षा और तूफान से मरने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रूपये और घायलों को 50-50 हजार रूपये अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी है। एक ट्वीट में मोदी ने कहा कि प्रशासन स्थिति की समीक्षा कर रहा है और प्रभावित लोगों को सभी आवश्‍यक सहायता उपलब्‍ध कराई जाएगी। उन्‍होंने पीडि़तों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की है। केन्‍द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रभावित राज्‍यों को आश्‍वासन दिया है कि उन्‍हें हरसंभव सहायता उपलब्‍ध कराई जायेगी। ट्वीट संदेश में राजनाथ सिंह ने शोक संतप्‍त परिवारों के प्रति दुख प्रकट किया है।

सूत्रों मिली जानकारी के अनुसार उत्‍तरी गुजरात और सौराष्‍ट्र सहित कई इलाकों में 10 लोगों की म़ृत्‍यु हो गई। राजस्‍थान में कई स्‍थानों पर आंधी – तूफान से पेड़ और बिजली के खम्‍बे उखड़ गये। इन घटनाओं में 10 लोगों की मौत हो गई। झालावाड़ और जयपुर में चार-चार लोगों की मौत हो गई। बारां तथा उदयपुर में भी लोगों के मारे जाने की खबर है। मध्‍यप्रदेश में भी आंधी-तूफान और बिजली गिरने की घटनाओं में 10 लोगों की मृत्‍यु हुई है। खबरों के मुताबिक मौसम में अचानक बदलाव और बिजली गिरने के कारण राज्य में कम से कम 10 लोग मारे गये। इनमे इंदौर में तीन लोग , बदनावर और खरगौन में 2-2 तथा रतलाम, शाहजहांपुर और शिवपुर में 1-1 व्यक्ति की मौत की खबर हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मौसम से हुई क्षति के लिए शोक व्यक्त किया है। उधर मेौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ के कारण आने वाले दिनों में भी राज्य में ऐसे ही मौसम की भविष्यवाणी की।

मौसम विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मृत्यंजय मोहापात्रा ने बताया कि एक एक्टिव वैस्ट्रन डिस्टरबेन्स नॉर्थ ईस्ट इंडिया को प्रभावित कर रहा हैं। इसके प्रभाव में पास्ट 24 हावर्स में नॉर्थ ईस्ट इंडिया में जैसे – जम्मू- कश्मीर, पंजाब . हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चण्डीगढ, दिल्ली बारिश हुआ हैं। राजस्थान में भी बारिश हुआ। मध्य प्रदेश में भी बारिश हुआ हैं। कुछ इलाका में हेल स्टॉर्म भी रिकॉर्ड किया गया है और विंड भी गस्टी रहा हैं। ये वैस्ट्रन डिस्टरबेन्स धीरे-धीरे ईस्ट की ओर मूवमेंट हो रहा हैं। इसलिए धीरे-धीरे इसका इम्पेक्ट नॉर्थ ईस्ट इंडिया में कम होता रहेगा।

Check Also

बिहार में बाढ़ का कहर जारी

केन्‍द्रीय जल आयोग ने कहा है कि भारी वर्षा के कारण बिहार के बागमती, गंडक, ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *