Home / Headline / आतंकवाद और वार्ता एक साथ नहीं – सुषमा स्वराज

आतंकवाद और वार्ता एक साथ नहीं – सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आंतकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को खरी-खोटी सुनाते हुए कहा है कि अगर पाकिस्तान शांति वार्ता चाहता है तो उसे अपनी जमीन से पनप रही आतंकवादी गतिविधियों पर लगाम कसना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पहले आतंकियों पर कार्रवाई करे, फिर बात करे, पाकिस्तान अगर वाकई में नया पाकिस्तान है, तो मसूद अज़हर को भारत को सौंपे।भारत का शुरू से ही रुख साफ रहा है कि आतंकवाद और वार्ता एक साथ नहीं चल सकती, और भारत अपने रुख पर कायम है।

विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान की हरकतें उसके झूठ का सुबूत है। पहले वो आतंकियों को पनाह देता है ताकि वो हमारे यहां हमले करें, और जब भारत जवाबी कार्यवाही करता है तो पाकिस्तान आतंकियों का पक्ष लेता है। सुषमा स्वराज ने कहा पाकिस्तान की पुरानी फितरत रही है कि वो आतंकियों को शह देता रहा है, और जब उसके आतंकी मारे जाते हैं तो उनको अपनाने से भी इन्कार कर देता है, ये बात और है कि हर बार वो आतंकी उसकी ज़मीन पर ही पाया जाता है।

Check Also

वाइस एडमिरल करमबीर सिंह होंगे अगले नौसेना प्रमुख

सरकार ने वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगले नौसेना प्रमुख के रूप में नियुक्त किया ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *