Home / समाचार / डाइनिंग टेबल पर राज करेगा दादीमां के हाथ का स्वाद

डाइनिंग टेबल पर राज करेगा दादीमां के हाथ का स्वाद

गोदरेज फूड ट्रेंड्स रिपोर्ट 2019 

मुंबई। गोदरेज ग्रुप ने 02 फरवरी को विक्रोली के द ट्रीज में अपने वार्षिक ब्रांड एग्नोस्टिक लाइफस्टाइल दावत ल’अफेयर 2019 में फूड ट्रेंड्स रिपोर्ट- 2019 का अनावरण किया। गोदरेज ग्रुप के अध्यक्ष आदि गोदरेज गोदरेज एग्रोवेट के चेयरमैन नादिर गोदरेज और गोदरेज ग्रुप की कार्यकारी निदेशक और मुख्य ब्रांड अधिकारी तान्या दुबाश  ने रुशिना मुंषा घिल्डियाल, शेफ राखी वासवानी शेफ वरुण इनामदार शेफ सरनश गोइला फूड राइटर और भोजन सलाहकार निखिल मर्चेंट फूड और ट्रेवल राइटर कल्याण कर्मकार पुरातत्वविद और पाक मानव विज्ञानी कुरुश दलाल और गोदरेज एप्लायंसेस के बिजनेस हेड औरकार्यकारी वीपी कमल नंदी के साथ रिपोर्ट का अनावरण किया।

रिपोर्ट में उन महत्वपूर्ण रुझानों पर प्रकाश डाला गया है जो स्वाद के संसार को प्रभावित करेंगे।रिपोर्ट में न केवल खाद्य प्रवृत्तियों को शामिल किया गया है बल्कि रेस्तरां के रुझानों रसोई के डिजाइनों के चलन पेय और डेसर्ट पर भी ध्यान दिया गया है। लोग अपने रसोई घर के भंडार को लेकर तेजी से जागरूक हो रहे हैं। भोजन के पैटर्न के साथ आहार और भोजन से संबंधित योजना में विविधता आ रही है। रिपोर्ट के अनुसार पारंपरिक व्यंजन और खाना बनाने में सुविधा सबसे प्रमुख रुझानों में होंगे। न केवल सुपरिचित भोजन पसंद करने वालों में पारंपरिक व्यंजनपसंदीदा  रहेंगे बल्कि किसी भी अवसर पर वे मेहमानों की सेवा करने के लिए शोस्टॉपर भी रहेंगे- चाहे वह आपकी दादी के हाथ की पहचान बन चुकी दाल हो या खास आपके परिवार की मशहूर बिरयानी।

रिपोर्ट के बारे में बोलते हुए कॉरपोरेट ब्रांड और कम्युनिकेशंस गोदरेज इंडस्ट्रीज लिमिटेड और एसोसिएट कंपनीज के वीपी और हेड सुजीत पाटिल ने कहा गोदरेज नेचर बास्केट गोदरेज एप्लायंसेस गोदरेज इंटरियो गोदरेज प्रोटेक्ट रियल गुड चिकन कार्टिनी नाइव्स जैसे विभिन्न ब्रांडों के माध्यम से गोदरेज ग्रुप का फूडइंडस्ट्री से बहुत अच्छा जुड़ाव है। एक रिपोर्ट तैयार करने के पीछे विचार यह था कि यह आगे आने वाले वर्ष के लिए विचार और अनुमानों के संकलन के रूप में काम करेगी। इसके दूसरे संस्करण में, हमारे पास 100 से अधिक विशेषज्ञ हैं जिन्होंने रिपोर्ट में योगदान दिया है। हम उम्मीद कर रहे हैं कि यह फूड इंडस्ट्री से जुड़ेकिसी भी व्यक्ति के लिए एक बेहतरीन हैंडबुक के तौर पर काम करेगी।’

सर्वे डिजाइनर रुशिना मुंषा-घिल्डियाल मैनेजिंग डायरेक्टर ए परफेक्ट बाइट कंसलिंटग एलएलपी ने कहा ‘गोदरेज फ़ूड ट्रेंड्स रिपोर्ट अपनी तरह की अकेली रिपोर्ट है जो इंडियन फूड इंडस्ट्री  के सृजनात्मक लोगों से सलाह करती है संख्या और गुणवत्ता के आधार पर सुझाव जमा करते हुए इनके विश्लेषण के आधार पर ऐसेनजदीकी रुझानों को पेश करती है आने वाले वर्ष में बहुत महत्वपूर्ण रहेंगे। इस वर्ष गोदरेज फूड ट्रेंड्स रिपोर्ट पहले से बड़ी है गुंजाइश और गहराई अधिक है। यह फूड इंडस्ट्री से जुड़े सभी लोगों के लिए आने वाले वर्ष की रणनीति बनाने के लिए मूल्यवान साबित होगी।’

इस वर्ष के शीर्ष 10 खाद्य प्रवृत्ति भविष्यवाणियों पर एक नजरः

  1. पारम्परिकभोजन का बढ़ेगा महत्व

अपरिष्कृत पारम्परिक भोज्य उत्पाद स्मॉल-बैच तैयार किए गए और हस्तनिर्मित लेबल वाले उत्पादों की उपलब्धता में उछाल आ सकता है

  1. खानापकाने में सुविधा पर बढ़ेगा ध्यान

जो उपभोक्ता समय की कमी से जूझ रहे हैं वे तेजी से खाना पकाने जैसी अवधारणाओं पर भरोसा करेंगे। यह बदले में उन उत्पादों की मांग को बढ़ाएगा जो घर पर आसानी से भोजन बनाने की सुविधा प्रदान करते हैं।

  1. फंक्शनलफूड दैनिक भोजन विकल्पों को प्रभावित करेंगे

उपभोक्ताओं की बढ़ती संख्या फूड प्रोडक्ट के फंक्शनल और मेडिसनल विशेषताओं पर ध्यान देगी जो उनकी डाइट या लाइफस्टाइल के विकल्पों के साथ मेल खा सके।

  1. स्वदेशीअनाज का पुनरुद्धार

जबकि पिछले साल बाजरा पर ध्यान दिया गया था 2019 में उपभोक्ता की दिलचस्पी अन्य पारंपरिक अनाज और चावल की स्वदेशी किस्मों पर अधिक ध्यान दे सकती है।

  1. साधारणसब्जियां बनेंगी बड़ी पसंद

घरेलू सब्जियां जैसे बथुआ तुरई लौकी और टिंडा जो अब तक व्यावसायिक रसोई में नहीं दिखाई देती हैं रेस्तरां मेनू में प्रमुखता से दिखाई देंगी।

  1. खानापकाने के तरीकों में पर्यावरण के प्रति जिम्मेदारी पर रहेगा जोर

उपभोक्ता खाद्य विकल्पों और पर्यावरण के हित के बीच जटिल संबंधों के बारे में पहले से ही जानते और उनकी सराहना करते हैं, अब वे सक्रिय रूप से ऐसे समाधान की तलाश करेंगे जो स्वयं और पर्यावरण पर बुरे असर को कम करने में मदद करें।

  1. फर्मेंटेडफूड प्रोडक्ट का होगा बोलबाला

प्राकृतिक रूप से उन किण्वित उत्पादों की विविधता में वृद्धि होगी जो 2019 में शेल्फ और मेनू में दिखाई देंगे।

  1. माइक्रोकुजिन सुर्खियों में आएंगे

विशिष्ट उप-क्षेत्रों समुदायों और यहां तक कि पारिवारिक रसोई के लघु व्यंजनों से प्रेरित अवसरों उत्पादों और भोजन के अनुभवों का एक विस्फोट होगा।

  1. नानीदादी और मा के व्यंजन मेनू पर राज करेंगे

खाद्य उद्योग की प्रेरणा के मूल स्रोत और हमारी समृद्ध पाक विविधता के संरक्षक के रूप में माताओं दादी और घरेलू रसोइयों का महत्व बढ़ता ही जाएगा।

  1. नाश्तेमें बढ़ेगी विश्वसनीयता

उपभोक्ताओं को अपने मुख्य भोजन को ऐसे विश्वसनीय स्नैकिंग उत्पादों के साथ बदलने के लिए अधिक अवसर मिलेंगे, जो स्वास्थ्य सुविधा और लागत की उनकी प्राथमिकताओं के अनुरूप होंगे।

Check Also

हर्बलाइफ न्‍यूट्रीशन ने एच24 को लॉन्‍च कर भारत में 20 वर्षों की सफलता का जश्‍न मनाया

एच24 उत्‍पादों की श्रृंखला एच24 हाइड्रेट और एच24 रिबिल्‍ड स्‍ट्रेन्‍थ के दो वैरिएंट्स में उपलब्‍ध ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *